Poem on Daughter in Hindi | प्यारी बेटियाँ | Beti Hindi Poem


Poem on Daughter in Hindi - लाड़ली बेटियों पर सुन्दर कविताएँ 

Hindi poem on beti
Poem on daughter in Hindi


Poem on Daughter in Hindi

सचमुच धरती का सारा धन
है ये अपनी बेटियाँ
ब्रह्मा की सुन्दरतम रचना,
 है ये अपनी बेटियाँ |
सभी काम में सबसे आगे,
अपनी प्यारी बेटियाँ
चंदा सी शीतलता देती
बंद हवा सी पेटिया|
ये वैभव का खुला खज़ाना
गृह लक्ष्मी है बेटियाँ
ओ पापी ! मत मार भ्रूण में
ये किलकारी बेटियाँ 
डॉ० जगदीश शरण  
ये कविताएँ भी पढ़ सकते है :-


  
 आपको ये Hindi Poem कैसी लगी, कमेंट करके जरूर बताइयेगा | If you like "Poem on Daughter in Hindi ", तो please इन poems को share करिये |  

No comments:

Post a Comment