Poem in Hindi For Class 1 | Hindi Poems For Kids | बाल कविताएँ

वैसे तो बहुत सारी बाल कविताएँ (Kids Hindi Poems) है लेकिन कुछ हास्य विनोद से भरपूर और हास्य रस पान कराने वाली और बच्चो के मन को मोह लेने वाली सुन्दर कविताएँ (Poem in Hindi For Class 1) निम्नलिखित है :-

Hindi Poems For Kids - बाल कविताएँ 


Hindi poems for kids
Kids-Hindi-Poems

Poem in Hindi For Class 1 #1

तोते जी ओ तोते जी
पिंजरे में क्यों रोते जी,
तुम तो कभी न पाठशाला जाते
Teacher जी की डाट न खाते |
तुम्हे न रोज नहाना पड़ता
ठीक समय पर खाना पड़ता |
अपनी मर्जी से जागते हो
जब इच्छा हो सोते जी,
फिर क्यों बोलो रोते जी ?

Poem in Hindi For Class 1 #2

चूहेमल का देखो खेल
चले ऊट की पकड़ नकेल
बुड-बुडबुड-बुडबोलै ऊट
मुझे पिला पानी दो घूँट ||

Poem in Hindi For Class 1 #3

जोकर मुझे बना दो जी,
मोटी तोंद लगा दो जी
नाक गोल को खूब सजाकर
गोल -गोल गेंदे चिपकाकर
रोतो को भी खूब हँसाकर|
हँसा - हँसा कर आंसू लाऊ
जी करता जोकर बन जाऊँ ||

Kids Poem in Hindi  #4

घर से निकले चूहे राम
लिए हाथ में लंगड़ा आम |
बड़े चाव से खाते जाते
दिखी सामने बिल्ली एक
लगा चाल में तुरंत ब्रेक
भागे तुरंत छोड़ कर आम
लौटे घर को चूहे राम ||
रूप नारायण सक्सैना

Poem in Hindi For Class 1 #5

चिड़िया रानी आओ ना
अपना गीत सुनाओ ना
मै तो खाता हलवा पूड़ी
तुम भी आकर खाओ ना |
चूहे राजा है शैतान,
चलते हरदम सीना तान
इसलिए तो बिल्ली मौसी,
खींचा करती उसके कान |
चंद्रपाल सिंह 

Poem in Hindi For Class 1 #6

चिड़िया चावल लेकर आयी
बिल्ली लाई दूध मलाई |
चीनी लाये चूहे राजा
गिलहरी मेवे ताजा |
तोता लेकर आया दाने
खीर पकाई खरगोशो ने |
सारे बैठे भूल अदावत
मिलजुल खाई सबने दावत |
कोयल ने छेड़ी कव्वाली
बन्दर लगा बजाने ताली |

Nursery Poem  in Hindi  #7

सुबह सुबह जब उगता सूरज,
लाल गेंद सा लगता सूरज|
दोपहरी में थाली जैसा,
चम् चम् चमका करता सूरज |
लाल टमाटर सा हो जाता,
शाम ढले जब ढलता सूरज|
ये कविताएँ भी पढ़ सकते है :-

आपको ये Hindi Poems For Class 1 कैसी लगी, कमेंट करके जरूर बताइयेगा | If you like "Kids Hindi Poems", तो please इन poems को share करिये |  

No comments:

Post a Comment